in ,

तलाक की छुरी क्यों चलती है लव मेरिज पर

why-love-marriage-does-not-work-out

प्रेम विवाह यानी कि लव मैरिज की बात सुनकर हर कुंवारे व्यक्ति के मन में एक खुशी की लहर दौड़ जाती है क्योंकि आज के समय में हर कोई अपनी गर्लफ्रेंड या बॉयफ्रेंड से इस बंधन में बंधने के लिए बेताब होता है.

लेकिन जितनी जल्दी वह इस बंधन में बंधने की करता है उतनी ही जल्दी वह इस बंधन से छुटकारा पाने के लिए भी करता है लव मैरिज फिल्मों की ही देन है यह कहना गलत नहीं होगा क्योंकि फिल्मों में ही अभिनेता और अभिनेत्री के द्वारा लव मैरिज किए जाने के बाद ही आजकल के युवाओं में लव मैरिज का एक ट्रेंड चल चुका है.

हर कोई लव मैरिज के बारे में ही सोचता है लेकिन जितनी ज्यादा संख्या में लव मैरिज होती है उतनी ही ज्यादा संख्या शादी टूटने की भी होती है और शादी उन्हीं की सबसे ज्यादा टूटती है जो लव मैरिज करते हैं जो प्यार के बाद शादी के बंधन में बनते हैं. 

why-love-marriage-does-not-work-out

 

क्या लव मैरिज सिर्फ एक दिखावा होता है या लव मैरिज के पहले अपने पार्टनर के साथ जीने मरने की कसमें खाना क्या वह सब झूठ होता है आखिर क्या कारण होता है कि लव मैरिज इतनी जल्दी टूट जाती है और बात तलाक तक पहुंच जाती है.

अक्सर हमने देखा है कि लव मैरिज को कुछ ही दिन होते हैं और उनके पार्टनर उनसे दूर हो जाते हैं जो तलाक का कारण भी बन जाते हैं कई व्यक्ति ऐसे होते हैं जो लोग मैरिज करने के कुछ ही महीनों बाद ही उनमें तलाक हो जाता है.

क्या यह सही है क्या प्रेम विवाह करना सही है और यदि सही हैं तो फिर क्यों इतनी जल्दी यह रिश्ता टूट जाता है प्रेम विवाह का रिश्ता इतना कमजोर होता है क्या जो वह इतनी आसानी से टूट जाता है

why-love-marriage-does-not-work-out

अरेंज मैरिज में तो ऐसा नहीं होता जब हमारे माता पिता हमारे लिए हमारा पार्टनर पसंद करते हैं और उनके अनुसार वह शादी करते हैं वह रिश्ता तो जन्म जन्मांतर तक चलता है.

उस रिश्ते में तो इतनी खटास नहीं आती जितनी लव मैरिज में आती है आखिर ऐसा क्यों होता है आज हर युवा के मन में या फिर लव मैरिज के बाद जिस व्यक्ति का तलाक हो चुका है उसके मन में यह सवाल काटे की तरह होता है आखिर क्या कारण है कि लव मैरिज इतनी जल्दी टूट जाती है.

एक दूसरे का आत्म निर्भर होना :

हमारे समाज में लड़का घर के बाहर का पूरा काम संभालता है और लड़की घर का पूरा काम संभालती है और यही रीत चली आ रही है लेकिन लव मैरिज में ऐसा नहीं होता लव मैरिज में दोनों ही किसी के ऊपर डिपेंड होना नहीं चाहते.

वह दोनों ही कामकाजी होते हैं और अक्सर इन बातों को लेकर उनमें मतभेद हो जाता है और तलाक होने का यह सबसे पहला कारण भी बन जाता है.

आत्म सम्मान :

लव मैरिज अक्सर वही लड़की करती है जो शिक्षित होती है और वहां पुरुषों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर चलती है समाज में वह भी अपना एक  आत्मसम्मान पाना चाहती है लेकिन इस स्थिति में यदि कोई लड़की को परिवार वाले किसी भी चीज में रोक-टोक करने लग जाते हैं .

तो उन लड़कियों को पसंद नहीं आता वह यह सोचती है कि लव मैरिज में उन्हें किसी भी तरह से किसी भी कार्य में रोका या टोका नहीं जाएगा और लव मैरिज के बाद यदि उन्हें परिवार में इस तरह की रोक तो की जाती है तो उनके मन में फिर एक ही सवाल आता है कि जब मैंने अपनी मर्जी से शादी की तो फिर मैं ऐसे बंधन में क्यों रहूं और ऐसे बंधन का क्या फायदा.

किचन का काम :

लड़का और लड़की भाग कर शादी तो कर लेते हैं लेकिन लड़कियां यही सोचती है कि जिस तरह उनका पार्टनर शादी से पहले उनका हर काम में सपोर्ट करता था शादी के बाद भी वह उनका वैसा ही सपोर्ट करेगा.

जब शादी करके लड़कियां अपने ससुराल जाती है तो वहां पर उन्हें हर काम करना पड़ता है शादी के शुरूआत दिनों में तो पति अपनी पत्नी को रसोई में हाथ बटा देता है लेकिन बाद में तो वह रसोई में जाकर झांकता भी नहीं रोज इस बात को लेकर पति और पत्नी में बहस बाजी होती है जो एक दिन तलाक पर जाकर ही खत्म होती है.

जिम्मेदारियों का भार :

प्रेम विवाह करने के बाद अक्सर कहीं व्यक्तियों को घर से दूर रहना पड़ता है और जब वह भागते हैं तब हमें इस बात का एहसास नहीं होता कि परिवार बनाने के लिए कितनी परेशानियों का सामना करना पड़ता है जब वह अलग रहते हैं तो उन्हें जिम्मेदारियों का अहसास होता है. 

इस महंगाई के जमाने में एक रुपए खर्च करने में भी 10 बार सोचना पड़ता है और इस स्थिति में यदि आपका पार्टनर आपका साथ नहीं देता तो कई बार वह तलाक का कारण भी बन जाता है नए शादी की और जोड़े अक्सर अपनी जिम्मेदारियों से भागते हैं और उन जिम्मेदारियों को उठाते नहीं जो तलाक का मुख्य कारण बनता है.

शारीरिक आकर्षण :

प्रेम विवाह में अक्सर तलाक होने का मुख्य कारण शारीरिक आकर्षण होता है यह बात जरूरी नहीं है कि सबसे अच्छा आपका प्रेमी वह आपका सबसे बेस्ट पति भी साबित हो या अच्छी प्रेमिका आपकी अच्छी पत्नी साबित हो. 

विवाह का अर्थ सिर्फ शारीरिक आकर्षण नहीं होता यह दो परिवारों का मिलन होता है लेकिन कुछ व्यक्ति सिर्फ शारीरिक आकर्षण के कारण ही शादी करते हैं और ऐसे रिश्तो को टूटने में ज्यादा समय नहीं लगता.

समर्पण :

लड़का और लड़की आकर्षण के कारण या प्यार के कारण एक दूसरे से विवाह तो कर लेते हैं लेकिन उनके बीच कभी भी समर्पण का भाव नजर नहीं आता क्योंकि दोनों ही इतने अश्वशक्ति होते हैं कि वह अपना जीवन गुजार सकें वह दोनों ही एक दूसरे पर निर्भर नहीं रहते हैं उनके बीच हमेशा मैं और तुम हमेशा यही चलता रहता है रिश्तो में कमी के चलते कई बार उनका रिश्ता टूट जाता है.

सहनशीलता :

लव मैरिज ही नहीं अरेंज मैरिज में भी पति और पत्नी को अपने ऊपर सहनशीलता रखना चाहिए क्योंकि कई बार छोटे-छोटे विवाद भी बड़ा रुप ले लेते हैं और उन छोटे-छोटे विवादों से आपके बीच तलाक भी हो सकता है इसलिए अकलमंदी इसी में होती है कि आप अपने रिश्तो के बीच सहनशीलता को लाएं

woo-girls-according-to-zodiac

राशि के अनुसार पटायें लड़की, पहले प्रोपोज़ में हाँ कह देगी

got-your-first-salary-start-these-habits

पहली सैलरी मिलने के बाद करे यह काम

Loading...