in

भारत के 5 सबसे शक्तिशाली प्रधानमंत्री, जिनके सख्त रवैये से बदली जनता की सोच

top-5-prime-ministers-of-india

भारत की आजादी के बाद अब तक 14 पूर्णकालिक प्रधानमंत्री देखे हैं, जिनमे कुछ देश के लिए चुपचाप काम करते थे, तो कुछ अपने सख्त रवैये के लिए जाने जाते थे. प्रधानमंत्री ऐसे थे जिन्होने देश के लिए कठिन निर्णय लिया और अपना नाम सुनहरे अक्षरो मे दर्ज किया.
इंदिरा गांधी :-

इंदिरा गांधी ने देश में आपातकाल लगाया, वैसे तो इस शक्ति का दुरुपयोग था, लेकिन दूसरी तरफ देश के लिए कई अच्छी चीजें भी उन्होने कीं थी. भारत के पहले परमाणु परीक्षण, ग़रीबी हटाओ योजना, भारत-पाक युद्ध और बांग्लादेश का निर्माण, बैंकों का राष्ट्रीयकरण के अलावा कई अन्य कई तरह के मजबूत कदम के द्वारा उन्होने काफी ख्याति प्राप्त की.
जवाहर लाल नेहरू :-

जवाहर लाल नेहरू के फैसले के चलते भारत को कश्मीर पर भारी नुकसान का सामना करना पड़ा. लेकिन आज के भारत के बारे में बहुत अच्छा काम बहुत पहले कर चुके थे.
राजीव गांधी :-

राजीव गांधी ऐसे पहले नेता थे, जिन्होंने भारत को 21 वीं शताब्दी में ले जाने का सपना देखा. देश की संचार क्रांति और आईटी के क्षेत्र में उनका योगदान उल्लेखनीय रहा. राजीव गांधी ने कई योग्य पहल की, जैसे चार व्हीलर कारखानों, पंचायती राज, कंप्यूटर और आर्थिक उदारीकरण के लिए खुले बाजार.

अटल बिहारी वाजपेयी :-

अटल बिहारी वाजपेयी जी अपना कार्यकाल पूरा करने वाले पहले गैर-कांग्रेस पीएम थे. जिन्होने भारतीय राजनीति में एक महत्वपूर्ण ऐतिहासिक नाम प्राप्त किया. वाजपेयी जी के कारगिल युद्ध मे हुई फतह को हर कोई याद करेगा.

नरेंद्र मोदी :-

भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दूसरे गैर-कांग्रेसी नेता हैं, जो अपने कार्यकाल के 5 साल पूर्ण करने के करीब हैं. पहले वह गुजरात के मुख्यमंत्री के रूप में 15 से अधिक तक कार्यरत थे, लेकिन दुर्भाग्यवश उनके कार्यकाल के दौरान ही भारत ने गुजरात गोधरा दंगों को देखा है. लेकिन प्रधान मंत्री बनने के बाद उन्होंने कई अहम फैसले लेकर देश की रीड की हड्डी को मजबूत किया.

signs of good luck and money is on your way

पूजा करते समय मिले ये संकेत तो, खुलते हैं बन किस्मत के तालें

successful-life-tips

जीवन में कभी भी दुखी हो, तो हमेशा याद रखना ये 3 बातें

Loading...