in

एक पिता जो रोजाना अपनी बेटी के साथ सोता है कब्र में

father-digs-grave-for-his-ill-daughter-to-prepare-for-her-death (1)

भगवान करे कि जो दिन इस नन्ही बच्ची के माता-पिता देख रहे हैं वह दिन दुनिया में किसी भी माता-पिता को ना देखना पड़े चीन में रहने वाले एक छोटे से गरीब और असहाय परिवार के यहां माता-पिता वह चीज कर रहे हैं जिसके बारे में कोई भी माता-पिता नहीं सोच सकता इस काम को करने से पहले न जाने की कितनी बार उस माता-पिता के हाथ-पैर कहां पर होंगे आने वाली परेशानी को सोचकर ही न जाने कितनी बार वह मरते होंगे लेकिन बच्ची के लिए बस जी रहे हैं

इसे कोन से माता-पिता होंगे जो खुद अपनी बच्ची के कफन का इंतजार कर रहे हैं इनसे बदकिस्मत और कोई मां-बाप हो भी नहीं सकता इससे बड़ी अफसोस की बात और क्या होगी जब माता-पिता खुद अपनी बेटी की कब्र खोदकर उसमें उसके साथ रह रहे हो ऐसे कौन से माता-पिता होंगे जो अपनी बेटी की मौत का इंतजार कर रहे हो लेकिन चीन में एक ऐसा ही परिवार है जो जिंदगी और मौत से लड़ रही बच्ची के लिए जीते जीते ही ही उसके लिए कब्र खोदी और वहां पर उस बच्चे के साथ रहने लगे

चीन में रहने वाले सांगलिया हूं और उनकी पत्नी बनी ऐसी स्थिति पर खड़े हैं जहां उन्हें कुछ भी समझ में नहीं आ रहा यह एक गरीब परिवार है और यह एक किसान भी है इनकी 2 साल की मासूम सी बेटी भांग दिल्ली जिन्हें खून की एक बीमारी थैलेसीमिया है और वह बच्ची इस बीमारी से ग्रसित है परिवार ने उस बच्ची के इलाज के लिए तकरीबन 10 लाख रुपए खर्च कर चुके हैं लेकिन अब उनके पास इलाज के लिए पैसे भी नहीं रहे हालात से मजबूर और गरीबी से परेशान होकर वह कुछ भी नहीं कर पा रहे हैं

father-digs-grave-for-his-ill-daughter-to-prepare-for-her-death (1)

अपनी आंखो के सामने अपनी बेटी को पल-पल मरता हुआ देख रहे हैं लेकिन बच्ची के पिता ने जो काम किया उसे जानकर हर कोई हैरान हो गया क्योंकि बच्चे के पिता ने अपनी बेटी की मौत की पूरी तैयारी कर ली है उन्होंने अपनी हाथों से अपनी नन्हीं सी बच्ची के लिए एक कब्र खोदी और बहुत पिता अपनी बेटी के साथ उस कब्र में सोने लग गया बच्ची की मौत का इंतजार कर रहे पिता एक कब्र खोदी जहां पर वह रोज उस बच्ची के साथ खेलता है वही पर होता है और आराम करता है

पिता कैसे सोच है कि बच्चे को अब कुछ ही दिनों बाद यही पर रहना है तो यदि वह यहां पर अच्छे से घुल मिल जाएगी तो इस जगह से अच्छे सेवा करती हो जाएगी और उसे किसी तरह यहां पर कोई परेशानी नहीं होती है बच्चे के पिता ने कहा कि उन्होंने बहुत से लोगों से पैसे उधार लिए और कोई भी मुझे पैसे देने के लिए राजी नहीं है

अब मैंने अपने बच्चे की जीवन कि आशीष छोड़ दी और अब हम सिर्फ उसके अंतिम दिनों का इंतजार कर रहे हैं यह काम मैंने इसलिए किया ताकि हम हमारे बच्चे के मन से मौत का डर निकाल सके हालांकि जब लोगों को इस बात की जानकारी मिली तो आप लोग बढ़-चढ़कर उस परिवार का सहारा बनने की कोशिश कर रहे हैं और वह कोशिश कर रहे हैं कि वह बच्ची कभी भी उस कमरे में ना जाएं

this-thing-can-be-harmful-while-traveling

इन चीजों से जरा बचकर रहें नहीं तो बिगड़ सकते हैं आपके काम

foreign-destination-you-can-visit-under-50-k-from-india

कम बजट में भी कर सकते हैं विदेशी जगहों की सैर…

Loading...