in , ,

12th के छात्र को Google में मिली जॉब, सैलरी है 12 लाख रु महीना

12th-student got job in google from chandigarh

बचपन से ही हर कोई अपने फ्यूचर के बारे में विचार कर लेता है अपने फ्यूचर को और भी अच्छा बनाने के लिए वह पढ़ाई पर पूरी तरह से ध्यान देता है और अच्छे नंबर लाने की कोशिश करता है क्योंकि उसे अपना फ्यूचर अच्छा बनाने के लिए बड़ी और नामी कंपनी में नौकरी मिल सकें बड़ी कंपनियों में नौकरी पाने के लिए बच्चे न जाने क्या-क्या करते हैं दिन रात मेहनत करते हैं लेकिन फिर भी कई बार मेहनत करने के बाद भी उन्हें सफलता हासिल नहीं होती शायद कह सकते हैं किस्मत क्योंकि किस्मत जब तक हमारे साथ नहीं देती है. हम सफल नहीं हो सकते है. 

यदि किस्मत साथ हो तो फिर बात ही क्या बहुत कम समय में ही फिर हम तो बहुत बड़ी उपलब्धि हासिल कर सकते हैं और यह उपलब्धि हासिल करके बताइए एक सरकारी स्कूल के बारहवीं के छात्र ने जिस में 12वीं की पढ़ाई करने वाले एक मिडिल क्लास स्कूल से  IT स्ट्रीम के तहत 12वीं की पढ़ाई करने वाले करने वाले हर्षित शर्मा को गूगल ने नौकरी दी है जहां उन्हें 12लाख रुपए सैलरी मिलेगी.

12th-student got job in google from chandigarh

चंडीगढ़ के सरकारी मॉडल सीनियर सेकेंड्री से 12वीं करने वाले हर्षित शर्मा को गूगल में नौकरी करने का सुनहरा अवसर मिला है और उन्हें Google में नौकरी करने पर 12 लाख रुपए महीना सैलरी दी जाएगी हर्षित को मिली इस सफलता से वह अत्यधिक खुश हैं क्योंकि उन्हें इस बात का अभी भी यकीन नहीं हो रहा है कि दुनिया की सर्वश्रेष्ठ Google कंपनी में उन्हें  काम करने का अवसर मिला है हर्षित ट्रेनिंग के लिए कैलिफ़ोर्निया जाएंगे.

हर्षित एक साल तक Google में ट्रेनिंग लेंगे लेकिन ट्रेनिंग के दौरान भी उन्हें 4 लाख रुपए महीना सैलरी दी जाएगी और ट्रेनिंग के बाद हर्षित की सैलरी 12 लाख रुपए महीना हो जाएगी Google ने हर्षित को ग्राफ़िक डिज़ाइनर के तौर पर रखा है. 

सक्सेस स्टोरी  :

बहुत कम समय में इतनी बड़ी कामयाबी को हासिल करना किसी सपने से कम नहीं है हर्षित ने भी यही बताया कि मुझे तो यह सब कुछ सपना ही लगा है लेकिन मेरा  सपना पूरा हो गया है मेरे द्वारा की गई मेहनत रंग लाई और मुझे मेरी मेहनत का फल मिल गया है हर्षित ने बताया कि जब उनकी उम्र महज 10 साल थी तभी से उनका ध्यान  ग्राफिक्स डिजाइनिंग की तरफ हो गया और वह ग्राफिक डिजाइनिंग सिखने लग गया और तभी से उन्होंने यह निर्णय लिया था कि वह एक दिन गूगल में नौकरी जरुर करेंगे और उन्होंने अपने सपने को अपनी मेहनत के द्वारा सच भी कर लिया हर्षित अपने अंकल से ग्राफिक डिजाइनिंग की ट्रेनिंग लेने लग गए.

हर्षित ने बताया कि मेरी इस सफलता के पीछे सबसे बड़ा हाथ मेरे अंकल का है क्योंकि मैंने ग्राफिक डिजाइनिंग का कोर्स किसी इंस्टिट्यूट से नहीं किया बल्कि मुझे मेरे अंकल से यह सब कुछ सीखा मैंने जो कुछ भी सीखा है सब अंकल से ही सीखा है और आज मैं जिस पोजीशन पर हूं वह सब कुछ मेरे अंकल की वजह से ही हु .

अच्छा तो इसलिए ही सिर्फ लड़कियों को रखा जाता है रिसेप्शन पर

महिलाये मर्दो की लगाती है बोली, एक दिन में कमाते है लाखो

नीतीस तोहरा हमरा पर भरोसा नइखे

मैक्सी पहनकर भाभी जी ने किया ऐसा काम, देखने वालो के उड़ गए होश

Bihar politics sonu song

नीतीस तोहरा हमरा पर भरोसा नइखे

tampering-imei-number-can-land-you-in-jail-gov-is-mulling-to-bring-new-rule

मोबाइल की सेटिंग से की छेड़छाड़ तो, हो सकती है 3 साल की जेल

Loading...