in , ,

शादी से किया मना तो हो सकती है आपको यह परेशानी

कई व्यक्तियों को आपने कहते सुना होगा की शादी मनुष्य के जीवन का सबसे अहम ऐसा होता है शादी के बाद पति और पत्नी मिल कर अपना जीवन बिताते पति और पत्नी गाड़ी के दो पहिया होते हैं जो एक पहिया खराब हो जाता है तो गाड़ी वही रुक जाती है आगे नहीं बढती  उसी तरह हमारी जिंदगी है यदि हमारी जिंदगी में जब तक हमारा लाइफ पाटनर नहीं आ जाता तब तक हमारा जीवन सार्थक नहीं हो पाता पति और पत्नी को बेहतर जीवन के लिए दोनों के बीच आपसी समझ होना काफी आवश्यक होता है.

ऐसा जरुरी नहीं है कि शादीशुदा जीवन हमेशा खुशहाल ही रहता है कहते हैं ना कि जहां चार बर्तन एक साथ रखे जाते हैं वहां पर आवाज तो होती है परिवार में यदि आप रह रहे हैं तो रिश्तो मैं थोड़ी बहुत तकरार और नोकझोंक तो चलती ही रहती लेकिन इस नोकझोंक के साथ हमारा जीवन आगे बढ़ता है  कुछ व्यक्ति ऐसे भी होते हैं जो शादी के नाम से ही घबरा जाते है   मुझे शादी नहीं करनी है शादी के बाद कई व्यक्ति परेशान रहते हैं जीवन में कई तरह की समस्याएं आती है लेकिन ऐसा जरुरी नहीं कि आप कुवारे रहेंगे तो आपको जीवन का हर सुख मिलेगा जो सुख शादी के बाद मिलता है वह कुंवारे व्यक्तियों को नहीं मिलता है यदि आपको यकीन न हो तो इन बातों को एक बार जरुर पढ़े और इन्हें पढ़ने के बाद निश्चित ही आप शादी करने से मना नहीं करेंगे.

डिप्रेशन :

 सभी जानते हैं कि विवाहित जीवन में छोटी मोटी नोकझोंक तो चलती ही रहती है कई बार पति-पत्नी डिप्रेशन से निकलने की कोशिश करते हैं लेकिन एक रिसर्च में इस बात का पता चला है कि जो लोग अविवाहित हैं वह विवाहित लोगों की तुलना में अधिक डिप्रेशन का शिकार होते हैं.

दिल की बीमारी :

शादी दो व्यक्तियों का नहीं बल्कि दो दिलों का मिलन होता है और यही मिलन व्यक्ति को कई बीमारियों से भी बचाता है शादी के बाद पति या पत्नी में से किसी एक को योग या व्यायाम करने की आदत होती है तो वह दूसरे को भी इसे करने के लिए प्रेरित करता है और ऐसा करने से कई तरह की बीमारियों से वह बच सकते है रिसर्च में इस बात का पता चला है कि विवाहित व्यक्ति हार्ट अटैक से बचे रहते हैं.

बीमारियों से  राहत :

बढ़ती उम्र के साथ व्यक्ति के शरीर को कई तरह की बीमारियां जकड लेती है कुछ व्यक्तियों को हाई कोलेस्ट्रॉल हाई ब्लड प्रेशर डायबिटीज जैसी कई बीमारियां हो जाती है लेकिन क्या आप इस बात को जानते हैं कि विवाहित लोग इस तरह की बीमारियों का आसानी से सामना कर लेते हैं जबकि कुंवारे व्यक्ति इस तरह की बीमारियों का सामना आसानी से नहीं कर पाते हैं और कुंवारे व्यक्तियों को इस तरह की बीमारियां जल्दी असर करती है.

समझदारी :

कुंवारे व्यक्तियों की अपेक्षा विवाहित व्यक्ति पर जब परिवार की जिम्मेदारियां आती है तो वह समझदारी से उन सबका सामना करता है कई तरह की परेशानियां होने के बावजूद भी वह एक दूसरे की सोच के अनुसार सब परेशानियों का सामना करते हैं उनमें रिश्ते निभाने की समझ आ जाती है विवाहित व्यक्तियों को सार्वजनिक स्थानों पर किस तरह की बातें करना है इस बात का उन्हें आभास होता है उनमें समझदारी आ जाती है.

नींद :

इस बात को जानकर शायद आपको आश्चर्य होगा लेकिन कुंवारे व्यक्तियों की अपेक्षा विवाहित व्यक्तियों को अच्छी नींद आती है विवाहित व्यक्तियों के साथ जब उनका पार्टनर साथ में होता है तो उन्हें खुद को वह सुरक्षित महसूस करते हैं इसी वजह से वह आराम से सोते हैं उन्हें किसी बात की चिंता नहीं होती है चिट्ठी कुंवारे व्यक्तियों को कई तरह की बातें बनने घूमती रहती है जिसके कारण उन्हें रात में नींद नहीं आती.

 

 

Private-employees tips

मैं अकेला ही चला था नौकरी पर, शोषण करता गया प्रमोशन होता गया

where-girls-turned-into-boys-after-12-years-of-birth

जन्म के कुछ साल बाद लड़की बन जाती है लड़का, अनोखी कहानी

Loading...