in ,

सैलरी स्लिप यह जानकारी आपको अवश्य होनी चाहिए

Know the Salary Slip Things

जब भी आप कहीं पर काम करते हैं तो माह की सैलरी का आपको बेसब्री से इंतजार रहता है वही हर एंप्लाइज सैलरी को लेकर जितना उत्साहित होता है वह इतना उत्साह किसी चीज में  नहीं रहता है वह सैलरी स्लिप को कभी सही ढंग से नही देखता है सैलरी स्लिप में वेतन की सभी जानकारी रहती है कौन-कौन सी कटौती है की गई है यह सब जानकारी सैलरी स्लिप द्वारा प्रदान होती है हम आपको जो जानकारी दे रहे हैं वह आपको हर समय बहुत काम आएगी और आपको समझ आ जाएगा सैलरी स्लिप क्यों जरूरी है हमारे लिए.

कैसी होती है-:
सैलरी स्लिप के पहले कॉलम में आपके हाथ में आने वाली इनहैंड सैलरी होती है वह दूसरे कॉलम में जो भी आपकी सैलरी में से कटौती हुई है उन राशि के बारे में दिया जाता है और कुछ सैलरी स्लिप में तीसरा कॉलम भी होता है उस कॉलम में कितनी राशि की कटौती किस लिए की गई है यह दर्शाया जाता है अगर आपके पास अभी सैलरी स्लिप है तो उसे निकाल ले और जैसा हम बता रहे हैं वैसा आप उसमें देखते जाएं तो आपको इसमें समझने में आसानी होगी.

बेसिक सैलरी-:
बेसिक सैलरी का जिक्र सबसे पहले सैलरी स्लिप में किया जाता है बेसिक सैलरी वेतन का 30 से 45 फीसदी होती है बेसिक सैलरी पर ही आपको टैक्स देना होता है बेसिक सैलरी कर योग्य होती है अगर आपकी बेसिक सैलरी ज्यादा होगी तो आपको टैक्स भी ज्यादा भरना पड़ेगा.

भत्ता-:
कंपनी आपकोभत्ता तब देती है जब आप कंपनी की तरफ से यात्रा कर रहे हो यह आपकी सैलरी में आपको जुड़कर मिलता है अगर आपको 1600 रुपए का भत्ता मिलता है तो आप को इस पर टैक्स नहीं देना होगा.

H R A यानी हाउस रेंट अलाउंस-:
बेसिक सैलरी में इसका भी जिक्र होता है हाउस रेंट अलाउंस बेसिक सैलरी का 50 फीसदी तक हो सकता है या फिर यह शहर पर निर्भर करता है अगर आप दिल्ली मुंबई या बेंगलुरु या फिर हैदराबाद जैसे शहर में रह रहे हैं तो आपको यह 50 फीसदी तक होगा अगर आप जयपुर,भोपाल,लखनऊ जैसे शहर में रह रहे हैं तो यह 40 फीसदी तक रहेगा आप किराए के घर में रहते हुए वर्ष में जितना किराया देते हैं उसमें से 10 फीसदी होस्सा घटने के बाद जो भी पैसे बचते है तो वह हाउस रेंट अलाउंस हो सकता है.

स्पेशल भत्ता-:
यह भत्ता कर्मचारियों को प्रोत्साहित करने के लिए दिया जाता है सभी कंपनियों की परफॉर्मेंस पॉलिसी अलग प्रकार की होती है और यह पूरी तरह कर योग्य होता है अगर आपकी कंपनी आपको यह अलाउंस नहीं देती है तो आप इसकी जानकारी ले सकते हैं.

प्रोविडेंट फंड-:
सैलरी स्लिप में प्रोविडेंट फंड का सबसे महत्वपूर्ण कॉलम होता है pf का आप को शायद पता नहीं होगा PF कितना कटता है pf आपकी सैलरी में से 12 फ़ीसदी होता है यह वेतन से कटता है और आपके पीएफ अकाउंट में जमा होता है जो कि नौकरी छोड़ने के बाद आपको यह मिल जाता है पीएफ की राशि जितनी आपकी सैलरी से कटती है उतनी ही कंपनी की भी कटती है pf को आप जमा निधि भी कह सकते हैं.

क्या स्मार्ट दिखने के लिए लड़कियां कर रही स्मोकिंग?

this-is-the-benefit-of-wearing-a-silver-tail

क्या आप जानते हैं ? महिला क्यों पहनती है बिछिया

Loading...