in ,

सुहागन स्त्री भूल से भी अपनी ये 7 चीजे किसी के साथ भी साझा ना करें ,वरना पति पर आ सकता है संकट

जैसा की हम सभी जानते हैं शादी के रिश्ते का सभी धर्मों में बहुत ही महत्व है लेकिन हिन्दू धर्म में इस रिश्ते की तो बात ही निराली है |हमारे हिन्दू धर्म में शादी के रिश्ते को इतने रस्मों रिवाजों के साथ जोड़ते है की हम चाह कर भी उसे भूल नही सकते| शादी होने के बाद एक स्त्री के जीवन में कई बदलाव आते हैं क्योंकि शादी के बद वो अपना मायका छोड़ ससुराल जाती है और वहाँ के माहौल में खुद को ढलती है|शादी के बद एक स्त्री के लिए उसका पति सबसे ज्यादा अहमियत रखता है इसीलिए हर पत्नी अपने पति को लेकर काफी सजग रहती है |

एक सुहागन स्त्री के लिए उसका सोलह श्रृंगार भी बहुत महत्व रखता है और ये श्रृंगार कहीं ना कहीं उसके पति के जीवन से भी जुदा रहता है इसीलिए आज हम आपको विवाहिता स्त्रियों के लिए कुछ ऐसी जानकारी लेकर आये है जिसे जानना उसके लिए बहुत ही आवश्यक है|

वैसे तो एक विवाहित स्त्री के जीवन में ऐसी बहुत सी चीजे होती है, जो वो किसी के साथ शेयर नहीं करना चाहती. जैसे कि अपने पति का प्यार हर स्त्री के लिए बहुत महत्वपूर्ण होता है. इसलिए आज हम आपको कुछ ऐसी चीजों के बारे में बताना चाहते है, जो एक विवाहित स्त्री को कभी किसी के साथ शेयर नहीं करनी चाहिए, फिर भले ही घर की कोई महिला सदस्य ही क्यों न हो, पर सुहागन महिलाओ को ये चीजे कभी किसी को नहीं देनी चाहिए और न ही शेयर करनी चाहिए. तो चलिए अब आपको इन चीजों के बारे में विस्तार से बताते है.

सिन्दूर

बता दे इस लिस्ट में पहली श्रृंगार की चीज जो शामिल है वो है स्त्रियों का सिन्दूर जिसे एक सुहागन के कर्तव्य और प्यार की सबसे बड़ी निशानी मानी जाती है | सिदूर सुहागन स्त्री के जीवन में बहुत महत्व रखता है क्योंकि यही उसके सुहागन होने की पहचान होती है |कहा जाता है की स्त्री को अपना सिन्दूर कभी किसी से साझा नहीं करना चाहिए इससे पति का प्यार कम होता है |बता दे जिस सिंदूरदानी से सिंदूर लगाती है, उसे हमेशा अपने पास ही संभाल कर रखे. इसके इलावा जब भी सिंदूर लगाएं तो अकेले में ही लगाए और सर पर पल्ला रख कर ही सिंदूर लगाएं. इसके साथ ही आपको अपना साज श्रृंगार भी अकेले में ही करना चाहिए, सबके सामने या सबको दिखा कर साज श्रृंगार नहीं करना चाहिए.

काजल

आँखों में लगाने वाले काजल को भी किसी के साथ साझा नहीं करना चाहिए क्योंकि कई बार किसी की आँखों में इन्फेक्शन होता है और ऐसे में यदि कोई व्यक्ति किसी दूसरे की काजल की डिब्बी से काजल लगाता है, तो उसे भी ये इन्फेक्शन हो सकता है और इसके अलावा ऐसा कहा जाता है, कि किसी दूसरे के साथ काजल शेयर करने से पति का प्यार भी कम हो जाता है या बंट जाता है. इसलिए काजल भी कभी शेयर नहीं करना चाहिए.

बिंदी

शास्त्रों के अनुसार यह भी कहा जाता है की महिलाओं को कभी भी आपने माथे की बिंदी किसी और के साथ साझा नहीं करना चाहिए हालाँकि आप बिंदी को पत्ते से निकाल कर दे सकती है यदि किसी जरूरत हो तब |

बिछिया

शादी के बाद महिलाएं पैरों में बिछिया पहनती है जिसे बहुत ही शुभ माना जाता है लेकिन यदि आपका पहना हुआ बिछुआ किसी को पसंद आ जाएँ, जैसे कि आपकी नन्द, जेठानी, देवरानी या घर की किसी दूसरी महिला सदस्य को ये पसंद आ जाएँ तो भूल कर भी उसे ये न दे.

चूड़ियाँ

सुहागन स्त्री को कभी भी आपने हाथ में पहनी हुई चुडिया भी कभी किसी को नहीं देनी चाहिए. ऐसे में अगर किसी को आपकी चूड़ियां पसंद आ भी जाएँ तो उसे दूसरी खरीद कर दे दे. मगर हाथ से निकाल कर कभी किसी को न दे.

मीठा पान

गौरतलब है, कि बहुत से त्यौहारों या कभी शादी के अवसर पर मीठा पान खाने के लिए दिया जाता है. ऐसे में यदि आपके पास बैठे किसी व्यक्ति को पान न मिले तो आप अपने में से थोड़ा सा तोड़ कर उसे दे देती है. पर ये करना गलत है. जी हां वो इसलिए क्यूकि मीठा पान भी सोलह श्रृंगार का हिस्सा है. इसलिए यदि आपको पान न भी खाना हो तो अपने पति को दे दीजिये पर किसी दूसरे को न दे

शादी का जोड़ा

गौरतलब है कि अपनी शादी के मौके पर लड़की जो कपडे पहनती है या साड़ी पहनती है और चुनरी लेती है उसे एक साल तक संभाल कर स्वच्छ रखना चाहिए, यानि वो कही से फटनी या खराब नहीं होनी चाहिए और ना ही किसी को साझा करना चाहिए |

बरहलाल यदि आप अपने पति का पूरा प्यार चाहती है और अपने पति को हमेशा अपना बनाएं रखना चाहती है, तो भूल कर भी इन चीजों को दूसरो के साथ शेयर न करे.

राजनीती दुनिया की वो 16 फ़ोटो जिसे देख हो जायेगे लोटपोट!

Candy Crush Saga game khelte hai to ho jaye sawdhan

अगर आप भी खेलते हैं कैंडी क्रश, तो हो जाइए सावधान!

Loading...