in

जवानी के टेस्ट में हुए थे फेल, 39 की उम्र में इस तरीके से हुये पास

बॉलीवुड का महान खलनायक अमरीश पूरी आज भले ही इस दुनिया में नहीं है, लेकिन उनके द्वारा कहे डायलॉग आज भी लोगों की जुबान पर हैं. यदि अमरीश पुरी आज यदि हमारे बीच मोजूद होते तो वह अपना 86 वा जन्मदिन मना रहे होते.

लाहौर, पंजाब में 22 जून 1932 को जन्मे अमरीश सभी के चहेते अभिनेता थे. 12 जनवरी, 2005 का वह दिन हम सभी के लिए बेहद दुखद दिन था जब ब्रेन हेमरेज की बीमारी ने इस अभिनेता को हम सभी से छीन लिया.

Amrish puri-rare-PHOTOS

उन्होंने मुंबई नगरी में अपनी अंतिम सास ली थी. जब वह इस दुनिया को अलविदा कह गए थे तो अखबारों में मोगैम्बो खामोश हुआ जेसी हेडलाइन बनाई गई थी.स्क्रीनटेस्ट में हुए फेल

Amrish puri-rare-PHOTOS

मशहूर अभिनेता अमरीश पुरी के दो बड़े भाई भी है, जिनका नाम मदन पुरी और चमन पुरी है. वह पहले ही एक्टिंग की दुनिया में अपना सिक्का चला चुके थे. फिर भी अमरीश के लिए यह सफ़र आसान नहीं था. अमरीश अपने पहले ही स्क्रीन टेस्ट में फेल हो गए थे.

Amrish puri-rare-PHOTOS

पहला रोल

अमरीश पुरी ने अपने फ़िल्मी करियर की शुरुआत हिंदी सिनेमा से नहीं बल्कि मराठी सिनेमा से की थी. उन्होंने अपने करियर का पहला रोल 1967 की मराठी फिल्म शंततु! कोर्ट चालू आहे में किया था. अमरीश पुरी इस फिल्म में अंधे व्यक्ति का किरदार अभिनय किया था.

बॉलीवुड में रोल

अमरीश पुरी 39 साल की उम्र में बॉलीवुड में कम करने लगे. उन्होंने सुनील दत्त और वहीदा रहमान की फिल्म रेशमा और शेरा में अभिनय किया था.

देखिये अमरीश पुरी के Rare Photos

mahindra launch-of-tuv300-plus in-india

महिंद्रा ने लॉन्च की 9 सीटों वाली TUV300 प्लस, कम कीमत में मिल रहे इतने फीचर्स

Frozen white layer on the tongue Yun Clear

आपकी जीभ के ऊपर भी जमी है सफेद परत तो, हो जाये सावधान !

Loading...